10 Most Expensive Currency World In 2021 हिन्दी मे

क्या आपने कभी सोचा हैं कि दुनिया मे ऐसी कौन सी मुद्रा हैं जो सबसे मजबूत या सबसे महँगी हैं। शायद आप इस बारे में ज्यादा नही सोचते होंगे लेकिन ये जानना बहुत ही जरूरी हैं कि दुनिया की सबसे महंगी कर्रेंसी कौन हैं। इसी तमाम बारीकियों को ध्यान में रखते हुए आज के इस आर्टिकल में हम 10 Most Expensive Currency World In 2021 हिन्दी मे के बारे में विस्तार से चर्चा करेंगे। 

10 Most Expensive Currency World In 2021 हिन्दी मे
Expensive Currency

तो आइये , वर्तमान समय में दुनिया के सबसे महंगी करैंसी पर एक नजर डालते हैं साथ ही उनकी और अमेरिकी डॉलर के बीच फर्क को भी जानना की कोशिश करते हैं। इसमें इस बात पर प्रकाश डालने की कोशिश करेंगे कि ये मुद्रायें इतनी महंगी क्यो होती हैं?

Most expensive currency world 

कुवैती दीनार  1 KWD = 3.33 USD

दुनिया की सबसे महंगी करैंसी कुवैती दीनार हैं जिसकी वर्तमान में सबसे ज्यादा वेल्यू हैं। अभी एक कुवैती दीनार (KWD)  3.33 USD के बराबर हैं और उसी एक  KWD की भारतीय वेल्यू लगभग 243 रुपये हैं।

कुवैत अन्य देशों के मुक़ाबके काफी छोटा  हैं इसकी सरकार मुख्यरूप से तेल और पेट्रोल के क्षेत्र में कार्यरत जोटा हैं जो यहां की अर्थव्यवस्था की नींव हैं। अरब देशों में कुवैत दूसरा सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज हैं सबसे पहले यही पर तेल और पेट्रोलियम की खोज आरम्भ की गई । 

बहरीन दीनार  1 BHD = $2.65 USD

 

दुनिया के दूसरे सबसे महंगे करैंसी में बहरीन दीनार काम आता हैं। बहरीन देश फारस की खाड़ी के पश्चिमी तट के पास एक छोटा सा द्वीप हैं।  यहां की अर्थव्यवस्था भी पूरी तरह पेट्रोलियम पदार्थों पर निर्भर रहती हैं।

कई देश इस बात का माला जपते रहते है कि मेरे पास कोई साधन नही हैं , मैं क्या करू? लेकिन बहरीन जैसे देश इस बात को ही अच्छे से उपयोग किया और देश के प्राकृतिक संसाधनों को मजबूती बना ली। 

इसी वजह से इन देश की कर्रेंसी दुनिया भर में राज करती हैं। इसके साथ ही इन्होंने कई आकर्षक पर्यटक स्थल का निर्माण किया जिससे विश्व के कोने कोने से लोग यहां आते हैं। 

जानिए , भारत के टॉप motivational गुरु 

ओमानी रियाल 1 OMR = $2.60 USD

ओमान देश अरब प्रायद्वीप के दक्षिण पूर्वी तट के पास स्थित एक अरबी देश हैं। माना जाता हैं कि इनके पास पड़ोसियों देश जितना पेट्रोल और तेल नही हैं। इसके वाबजूद भी पिछले कई सालों से दुनिया के सबसे अमीर देशों में शामिल हैं। ओमानी  की पूरी अर्थव्यवस्था का आधार तेल और पेट्रोलियम संसाधनों हैं जिसमे थोड़ा बहुत कृषि और अन्य उधोग भी शामिल हैं।  

जॉर्डन दीनार 1 JOD =$103 USD10 Most Expensive Currency World In 2021 हिन्दी मे

जार्डन दीनार दुनिया की चौथी सबसे महंगा करेंसी हैं। इसका अरबी कोड JOD मानी जाती हैं। 1927 के आस पास जॉर्डन अपनी मुद्रा के लिए फिलिस्तीन देश पर निर्भर रहता हैं। लेकिन साल 1946 में जार्डन एक स्वतंत्र देश बन गया । इसके बाद भी कुछ दिन जार्डन ने फिलिस्तीन के मुद्राओं का ही इस्तेमाक किया । साल 1949 में उन्होंने खुद के मुद्रा को बढ़ाबा दिया और जार्डन दीनार की मुद्रा को जारी किया । 

आज के समय मे भले ही उसके पास ज्यादा तेल या पेट्रोल का भंडार नही हैं। फिर भी वे अपने अर्थव्यवस्था के दम पर जार्डन दीनार को दुनिया के चौथे सबसे महंगा करेंसी बनाये हुए हैं।इस तरह जार्डन इस बात को साबित किया कि अमीर कैसे बने ?   

ब्रिटिस पाउंड स्टर्लिंग 1 GBP =$1.34 USD

माना जाता हैं कि पौंड स्टर्लिंग यूरोप की सबसे पुरानी मुद्रा हैं। जिसे ब्रिटिश के अलावा भी आस पास के देशों में इस्तेमाल किया हैं। कुछ ऐसे राष्ट्र भी है जो स्टर्लिंग के जगह पाउंड का इस्तेमाल करते हैं। 

वर्तमान में अर्थव्यवस्था की दृष्टि से ब्रिटिश दुनिया का तीसरा सबसे मजबूत अर्थव्यवस्था हैं। ब्रिटिश स्टर्लिंग की भारतीय मूल्य ₹101.03/- हैं। अमेरिका और जापान के मुद्राओं के बाद स्टर्लिंग पौंड का ही स्थान हैं। जिस समय पूरा यूरोप मंडी से गुजर रहा था , उस समय ब्रिटिश में औद्योगिक क्रांति चरम पर थी ।

ड्रॉप शिपिंग कैसे काम करता हैं? जानने के लिए यहाँ दबाए । 

केमैन आइलैंड्स डॉलर 1 KYD = $.20 USD

चारो तरफ समुद्रों से घिरा हुआ केमैन आइलैंड्स एक छोटी सी कंट्री हैं जिसका आबादी लगभग 70,000 के आस पास हैं। पहले ये जमैका से जुड़ा हुआ था  जो साल 1972 को इससे अलग हो गया। 

इससे पहले ये दोनों देश की समान मुद्रा थी । साल 1972 के बाद केमैन आइलैंड्स ने अपनी मुद्रा को जारी किया जिसका कीड़े नाम KYD हैं। आज इसकी भारतीय मूल्य ₹87.56 /- हैं।  यहां की सरकार मुख्यरूप से आयात की जाने वाली वस्तुयें और पर्यटन पर लागू शुल्क से अर्थव्यवस्था चलती हैं। 

यूरोपीय यूरो  1 EUR = $1.18 USD

 

10 Most Expensive Currency World In 2021 के लिस्ट में सबसे शक्तिशाली मुद्राओं में यूरो को एक सफल मुद्रा माना जाता हैं। क्योंकि इस मुद्रा ने बहुत कम समय मे यूरोप के 17 देशों में अपनी जगह बना लिया । यूरोपियन यूरो को साल 1999 में लॉन्च किया गया था । 

जर्मनी, फ्रांस , फिनलैंड, और नीदरलैंड जैसी अर्थव्यवस्था के कारण भी यूरोपियन यूरो की मान्यता दूसरे स्थान पर आती हैं। ववर्तमान में उसकी भारतीय वेल्यू लगभग ₹86.75 /- हैं। संयुक्त राज्य अमेरिका के डॉलर के बाद विश्व स्तर पर यूरो मुद्रा को सबसे ज्यादा कारोबार करने वाली दूसरी मुद्रा  बताई गई । 

स्विस फ्रैंक 1 CHF = $1.02 USD

स्विट्जरलैंड की मुद्रा स्विस फ्रैंक हैं जो दुनिया मे सातवी सबसे महंगी करेंसी हैं। स्विट्जरलैंड हमेशा से ही एक समृद्ध राष्ट्र रही हैं। वर्त्तमान काल मे भी यह देश दुनिया के अमीर आदमियों के देशो में शामिल हैं। स्विट्जरलैंड की आबादी भले ही कम हो लेकिन इनमें अर्थव्यवस्था की बड़ी शक्ति हैं। 

माना जाता है कि दुनिया के सबसे बड़े निर्यातकों में ये देश भी शामिल हैं। दुनिया के अधिकतर अमीर लोग अपना पैसा इनके स्विस बैंक में रखते हैं। जो उच्चतम लेवल की सुरक्षा प्रदान करता हैं। अगर हम भारत के मुद्रा की तुलना इससे करे तो इसकी वेल्यू ₹79.90 होगी। 

बहामियन डॉलर 1 BSD = $1 USD

अटलांटिक सागर के लुकायन द्वीपसमूह में एक छोटा सा देश बहामा हैं जो द्वीपसमूह के लगभग 97 %भूमि को कवर करता हैं। यहां पर बहामियन डॉलर साल 1996 में लांच किया था इससे पहले पड़ोसी देश के मुद्राओं को जारी किया जाता था ।

वर्तमान समय मे बहामियन डॉलर और USD डॉलर को समान मान्यता मिली हैं। इसके पास को भी तेल या पेट्रोलियम पदार्थों का भंडार नही हैज यह अकेले पर्यटन शुल्क से ही अर्थव्यवस्था को चलाती हैं।

रिपोर्ट के अनुसार , यहां पर पर्यटन से लगभग 60% सकल घरेलू उत्पाद कवर होता हैं। साल 2018 के आंकड़ों के हिसाब से थान की कुल आबादी लगभग 38,500 बताई गई हैं।  

जैसा कि मैंने बताया , यहां की 80 फीसदी अर्थव्यवस्था पर्यटन पर निर्भर करती हैं।  इसके अलावा सरकार बैंकिंग और वित्तीय क्षेत्र में अन्य देशों के साथ व्यापार को उत्साहित करती हैं। 

अमेरिकी डॉलर

हम और आप इस बात को अच्छी तरह से जानते हैं कि दुनिया मे अमेरिका सबसे ताकतवर देशों में शामिल हैं। लेकिन उसके यहां की करेंसी दुनिया के सबसे महंगी करेंसी में थोड़ा पीछे हैं। अमेरिका के मुद्रा को USD डॉलर कहा जाता हैं। जिसे यूएस सेंट्रल बैंक जारी करता हैं। अमेरिकी डॉलर दूंगा भर में सबसे जतद कारोबार करने वाली विदेशी मुद्रा हैं। 

यह विश्व के लगभग हर देश के राष्ट्रीय बैंको के पास रहता हैं । 10 Most Expensive Currency World In 2021 हिन्दी मे के समय अनुसार USD का भारतीय मूल्य ₹72.99 हैं । ये हमेशा ऊपर निचे होता रहता हैं। 

दुनिया का सबसे पुराना करेंसी कौन सा है ?

दुनिया का सबसे पुराना करेंसी ब्रिटिश पौंड हैं जो वर्तमान काल मे भी इस्तेमाल किया हैं। यह ब्रिटिश सरकार की मुद्रायें हैं। ब्रिटिस पौंड लगभग 1200 साल पुराना मुद्रा हैं। 

दुनिया का सबसे नया मुद्रा कौन सा हैं ? 

माना जाता हैं कि दुनिया की सबसे नई करेंसी यूरो हैं। जिसे 2002 में लागू किया था । 

इस तरह हम और आप आज के उपर्युक्त लेख मे जाना कि 10 Most Expensive Currency World In 2021 हिन्दी मे किस किस देश के करेंसी का नाम शामिल हैं । इस बात का अफसोस हैं कि मेरे भारत कि करेंसी इस लिस्ट मे शामिल नहीं हैं। लेकिन बहुत से ऐसे भी देश हैं जहां कि करेंसी हमारे देश कि करेंसी से बहुत सस्ता हैं । वैसे देश मे भारत के 100 रुपया वहाँ के 500 रुपया बन जाते हैं । अगले आर्टिकल मे हम इसी के बारे मे बात करेंगे  कि कौन से देश कि करेंसी हमारे देश से कम हैं? 

आपको ये पोस्ट कैसा लगा आप मुझे कॉमेंट बॉक्स मे बता सकते है। साथ ही मेरे दूसरे आर्टिकल भी पढ़ें जिससे आपको और खास जानकारी मिलेगी ।

इसे भी पढ़ें :-

ऑनलाइन पैसा कैसे कमाए ?

सैविंग और करेंट अकाउंट मे क्या फर्क होता हैं ?

जीवन को बेहतरीन कैसे बनाए ?

ई रूपी क्या हैं ?

 

Leave a comment