साइबर सिक्युरिटी इंसुरेन्स क्या हैं | बेस्ट साइबर सिक्युरिटी इंसुरेन्स-2022

भारत समेत दुनिया बहर मे साइबर क्राइम का चलन बढ़ गया हैं, ऐसे हमे अपने अनलाइन चीजों को सही से, और ध्यान से रखना होगा। नहीं आपकी मेहनत कि गाढ़ी कमाई चंद सेकंड मे खत्म सकती हैं। इस पोस्ट मे ये जानेंगे कि साइबर सिक्युरिटी इंसुरेन्स क्या हैं | बेस्ट साइबर सिक्युरिटी इंसुरेन्स-2022 आदि के बारे मे। अक्सर हम अपनी पेमेंट अपने मोबाईल से या लैपटॉप से करते हैं, कई बार दूसरों के वाईफाई भी इस्तेमाल करते हैं जो हमारे अनलाइन सुरक्षा के लिए बिल्कुल भी सही नहीं हैं। तो चलिए जानते हैं कि साइबर सिक्युरिटी इंसुरेन्स क्या हैं?

साइबर सिक्युरिटी इंसुरेन्स क्या हैं | बेस्ट साइबर सिक्युरिटी इंसुरेन्स-2022
साइबर सिक्युरिटी इन्श्योरेन्स

साइबर सिक्युरिटी इंसुरेन्स क्या हैं | बेस्ट साइबर सिक्युरिटी इंसुरेन्स-2022

साइबर इन्सुरेंस आम इन्सुरेंस से थोड़ा अलग हैं। साइबर इन्सुरेंस प्लान आपको किसी भी तरह के साइबर क्राइम से हुए नुकसान की भरपाई करती हैं। यह औरों से अलग इसीलिए हैं कि इसमें आपको मानसिक तनाव को दूर करने के लिए किए गए खर्च को भी कंपनी पूरी करती हैं। 

जैसा कि हम सब जानते हैं इंटरनेट बहुत तेजी से भारत समेत दुनिया मे फैल रही हैं। आज के समय मे लगभग हर छोटी बड़ी कंपनियाँ अपनी बिज़नेस को ऑनलाइन शिफ्ट कर रही हैं। ऐसे में दिन प्रतिदिन साइबर क्राइम भी बढ़ता जा रहा हैं। 

अगर कोई अपराधी आपके ऑनलाइन डेटा पर आक्रमण करता हैं तो आपको भारी भरमक नुकसान उठाना पड़ता हैं। साइबर क्राइम से बचने के लिए आप इन्सुरेंस का सहारा ले सकते हैं। नीचे आप जानेगे की साइबर क्राइम के इन्सुरेंस में आपको क्या क्या कवर मिलता हैं। 

साइबर इन्सुरेंस में क्या क्या कवर मिलता हैं ?

  • ईमेल डेटा आपूर्ति, फिशिंग के चलते हुआ नुकसान
  • बैंक खाते, डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड के द्वारा ऑनलाइन हुए धोखाधड़ी
  • निजी जानकारी को बेचने के बाद हुए प्रतिष्ठा का नुकसान
  • पहचान के बाद उस पर कानूनी कार्यवाही का खर्च
  • डेटा को फिर से रिकवर और इंस्टॉल करने में आये खर्च
  • गबाहों को अदालत तक आने जाने का खर्च

बेस्ट साइबर इन्सुरेंस कंपनी इन इंडिया

साइबर इन्सुरेंस ऑनलाइन से जुड़े सभी डेटा के साथ हुए धोखाधड़ी को हमें रिकवर करता हैं। फिलहाल भारत मे सिर्फ दो ऐसी कंपनियां हैं जो साइबर इन्सुरेंस प्लान मुहैय्या करती हैं।

इसमे एक बजाज आलियांज की इंडिविजुअल साइबर सेफ इन्सुरेंस पालिसी हैं और दूसरा एचडीएफसी एग्रो की साइबर इन्सुरेंस प्लान हैं। 

 साइबर इन्सुरेंस लेते वक्त किन बातों का ध्यान रखे ?

आप अगर साइबर इन्सुरेंस की प्लान लेनी की सोच रहे हैं तो आपको कुछ खाश चीजो को ध्यान में रखने की जरूरत होती हैं। 

  • कम्पनी क्या क्या चीजे कवर करती हैं। 
  • उसमे सब-लिमिट क्या हैं 
  • कंपनी की क्लेम रेट क्या हैं यानी कंपनी ने कितने कस्टमर को अपनी सारी वादा निभाई हैं। 

साइबर इन्सुरेंस की पालिसी कैसे काम करती हैं?

जैसे की मान के चलिए कि आप अपनी डेटा की सुरक्षा के लिए 5 लाख का प्लान खरीदते हैं। इसमे बजाज की इंडिविजुअल साइबर इन्सुरेंस के प्लान के हिसाब से महीने का 1823 रुपये क़िस्त आता हैं। 

यहां क्लेम पर कितना पैसा मिलेगा, यह इस बात पर निर्भर करता हैं आपके किस डेटा पर आक्रमण किया हैं।  जैसे कि अगर फिशिंग के  कारण आपकी डेटा चोरी होती हैं तो आपको प्लान का 25 प्रतिशत मिलता हैं। वहीं ईमेल स्पूफिंग के लिए 15 फ़ीसदी मिलता हैं।

साइबर अटैक से बचने के लिए किन बातों का ध्यान रखें ?

साइबर इन्सुरेंस लेने के बाद भी आपको अपने काम को सही तरीके से करना चाहिए। एक यूज़र होने के बावजूद भी आपको सावधानी रहने की जरूरत हैं। आपको इस बात का बखूबी ख्याल रखना चाहिए कि साइबर अटैक किस तरह काम को अंजाम देते हैं। 

आप जब भी किसी नए ऐप को इंस्टाल या डाऊनलोड करते हैं तो यह देख ले कि आपके सिस्टम में मालवेयर और रैन्समवेयर है कि नहीं। कई बार हम फ्री के वाईफाई कनेक्ट कर लेते हैं जिससे कई तरह के अनचाहे वायरस हमारे सिस्टम में आ जाते हैं और हमारी पर्सनल डेटा चोरी हो जाता हैं। 

तो इस तरह के अनजाने इंटरनेट कनेक्शन से बचने कि कोशिश करे। अपने पिन या पासवर्ड को गूगल के अनुसार फुली स्ट्रॉंग बनाए और समय समय पर इसे अपडेट करते रहें।

ड्रॉपशिपिंग से पैसे कमाए ?

Cyber insurance meaning in hindi

साइबर इंसुरेन्स वैसा ही हैं जैसा कि साधारण इंसुरेन्स, इसमे आपको अनलाइन से जुड़ी चीजों कि सुरक्षा का दावा किया जाता हैं। अगर आप अनलाइन कार्य करते हैं तो आपको साइबर इंसुरेन्स से जरूर जुड़ना चाहिए। इससे आपकी अनलाइन से जुड़ी चीजों का अगर नुकसान भी होता हैं तो कंपनी आपको इसका कवर देती हैं।

साइबर इंसुरेन्स कितने प्रकार के होते

लेटेस्ट पोस्ट के लिए क्लिक करें

Leave a comment