दुनिया का सबसे अमीर देश कौन हैं ? (2022)

क्या आप जानते हो कि दुनिया का सबसे अमीर देश कौन हैं ? शायद आप जानते होंगे लेकिन आप इसका जवाब अमेरिका का नाम लेकर करेंगे।आपको बताया दु कि वर्तमान काल मे दुनिया का सबसे अमीर देश चीन हैं । चीन दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था हैं। भारत समेत दुनिया के देशों के सरकार ने चीन के सामानों का बहिष्कार करने को कहा, इसके बाद भी चीन दुनिया के सबसे अमीर और पॉवरफुल देश अमेरिका को पीछे छोड़ते हुए विश्व मे सबसे अमीर देश बन गए हैं। 

बीते पिछले 20 सालो में चीन की कुल सम्पति में 16 गुना की बढ़ोतरी हुई हैं। यह आंकड़ा कंसल्टेंसी फर्म McKinsey and company की एक नये सर्वे में सामने आई हैं।

चीन में 2020 तक करीब 698 अरबपतियों की सूची थी जो अमेरिका के बाद सबसे ज्यादा था। 

दुनिया का सबसे अमीर देश कौन हैं ?

आप सभी जानते हैं कि अमरिका दुनिया का सबसे अमीर देश माना जाता था। लेकिन अब यह ताज चीन के सर पर सज गया हैं। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, साल 2000 में विश्व की कुल धन दौलत करीब 156 ट्रिलियन डॉलर थी, जो अगले दस सालों में 514 ट्रिलियन डॉलर हो गयी। 

सबसे गंभीर बात यह कि इन कुल संपति का एक तिहाई भाग चीन के पास होता हैं। जिस समय चीन वर्ल्ड ट्रेड ऑर्गनाइज़ेशन का सदस्य बनाया था, उस समय उनकी कुल सम्पति 7 ट्रिलियन डॉलर बताई गई, वही साल 2020 में इनकी सम्पूर्ण धन 120 ट्रिलियन डॉलर हो गयी।

इस तरह से दुनिया के सबसे अमीर देश का नाम चीन (china) हैं। चीन के सबसे अमीर बनने का मुख्य कारण रियल इस्टेट हैं जिसमे दुनियाभर के सबसे अमीर आदमी तकरीबन 68 फीसदी सम्पति लगाया हुआ हैं। 

भारत के सबसे अमीर राज्य के नाम

अमेरिका क्यो पीछे हुआ ?

पिछले 20 वर्षो में अमेरिका की टोटल सपंत्ति डबल हुई हैं । जहां चीन की कुल सम्पति 514 ट्रिलियन डॉलर आंकी गयी, वही अमेरिका के पास मात्र 90 ट्रिलियन डॉलर बताया गया हैं।

बताया जाता हैं कि अमेरिका के रियल इस्टेट में कम दिलचस्पी के कारण चीन से पीछे हो गया। वर्तमान काल मे चीन और अमेरिका दुनिया के सबसे अमीर देश /अर्थव्यवस्था में से एक हैं। लेकिन दुनिया के कुल धन संपत्ति सिर्फ दस फीसदी लोगो के पास हैं। 

चीन का उधोग

दुनिया कि सबसे अमीर देश चीन के पास बहुत से ऐसे उधोग हैं जिसका इस्तेमाल पूरा दुनिया मे होता हैं। चीन रासायनिक उर्वरक, सीमेंट, और स्टील के कारोबार में दुनिया का अग्रणी निर्माता हैं। उधोग और निर्माण कार्य का चीन के सकल घरेलू उत्पाद का लगभग 48 %हिस्सा हैं।

माना जाता हैं कि औद्योगिक उत्पादन में चीन दुनिया के प्रथम स्थान में से एक हैं। और यही वजह भी हैं कि चीन अब अमेरिका को पछाड़कर दुनिया का सबसे अमीर देश बन गया है। इस देश मे हर कोई व्यापार का जीवन जीता हैं चाहे वो कुछ भी बेचें। क्योकि जब आप कुछ उत्पादन करते हैं तो इससे देश की अर्थव्यवस्था मजबूत होती हैं। 

किसी भी देश में पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस महत्वपूर्ण ऊर्जा का साधन होता हैं। चीन इस मामले में दुनिया के पाँचवे देश हैं। 

ऑटोमोबाइल उधोग चीन में एक उभरता हुआ उधोग माना जाता हैं। साल 1975 में वे सालाना 139,800 ऑटोमोबाइल का उत्पादन किया वहीं साल 2002 में इसकी संख्या बढ़कर 3.3 मिलियन  हो गया और साल 2010 में इन्होंने कुल 13 मिलियन करो कि बिक्री की थी। 

इन तमाम उधोगो का असर चीन की अर्थव्यवस्था पर पड़ा जिससे आज वे दुनिया का सबसे अमीर देश के लिस्टमे आ गया हैं ।

दुनिया का सबसे अमीर देश कौन हैं ? (2022) के बारे आपने इस पोस्ट मे पढ़ा। अगर आप अन्य महत्वपूर्ण आर्टिकल पढ़ना पसंद करते हो तो आप इस लिंक पर क्लिक करो । ,

Leave a comment